Bihar News : मानव तस्करों पर पुलिस मुख्यालय सख्त, थाने को है जमानत का इंतजार, FIR कर सो गई खाकी

रिपब्लिकन न्यूज, बेगूसराय

by Republican Desk

Bihar News में खबर बेगूसराय से जहां मानव तस्करों के खिलाफ कार्रवाई के नाम पर खानापूर्ति की गई। पुलिस मुख्यालय ने भले ही सख्ती दिखाई। लेकिन पुलिस आरोपियों के जमानत का इंतजार कर रही है।

पुलिस की कार्रवाई पर उठ रहे सवाल

मानव तस्करी और देह व्यापार में लिप्त अपराधियों को बेगूसराय पुलिस अब तक ढूंढ नहीं पाई है। एक्शन के नाम पर एफआईआर के बाद पुलिस का कोई रिएक्शन देखने को नहीं मिला। छापेमारी के दावे तो किए गए, लेकिन आरोपी पुलिस की पकड़ में नहीं आए। अब आरोपी जमानत के लिए कोर्ट की चौखट पर पहुंच चुके हैं। लेकिन पुलिस आरोपियों की चौखट तक नहीं पहुंच पाई। यह पूरा मामला बेगूसराय जिले के बखरी थाना इलाके का है।

इसे भी पढ़ें : SP साहब…बेगूसराय में जिस्म खुलेआम बिकता है, सबूत यहां है, Police को खबर कैसे नहीं? स्टिंग के बाद खूब हुआ था तमाशा

मानव तस्करी के खुलासे पर एफआईआर, आरोपियों को नहीं ढूंढ सकी पुलिस

बखरी थाना क्षेत्र के वार्ड संख्या 14 निवासी एक महिला ने दिलीप साह और उसकी पत्नी ललिता देवी समेत कुछ अन्य शागिर्दों पर राजस्थान ले जाकर बेचने और दुष्कर्म करने का आरोप लगाया था। महिला के आवेदन पर बखरी थाना में कांड संख्या 72/24 दर्ज किया गया था। 7 मार्च 2024 को दर्ज इस एफआईआर में आईपीसी की कई संगीन धाराओं के साथ ही आईटीपी अधिनियम के तहत मुकदमा दर्ज किया गया था। इस एफआईआर को दर्ज हुए एक महीने से ज्यादा का वक्त बीत चुका है। लेकिन पुलिस अभी तक किसी अपराधी को गिरफ्तार नहीं कर सकी है। सूत्रों का दावा है कि इस कांड में कई अन्य महिलाओं को बेचने की बात भी सामने आई थी। बड़ी बात यह है कि इस मामले में बेगूसराय के पुलिस कप्तान के निर्देश पर बखरी डीएसपी के नेतृत्व में सख्त कार्रवाई का निर्देश दिया गया था। एफआईआर के बाद पुलिस ने छापेमारी की बात तो कही, लेकिन अब तक किसी आरोपी को गिरफ्तार नहीं किया जा सका है।

Watch Video

अग्रिम जमानत लेने की तैयारी में आरोपी, पुलिस की कार्रवाई पर उठे सवाल

इस कांड से जुड़े आरोपियों ने अग्रिम जमानत के लिए कोर्ट में अर्जी दी है। 15 अप्रैल यानि सोमवार को इस अर्जी पर सुनवाई होनी है। कांड के आरोपी ललिता देवी, सुशीला देवी दिलीप साह और चांदनी देवी ने अग्रिम जमानत याचिका दायर की है। एक तरफ जहां आरोपी कोर्ट से जमानत लेने की तैयारी में हैं। वहीं दूसरी तरफ बखरी पुलिस के हाथ अब तक खाली हैं। ऐसे में सवाल उठने लगा है कि आखिर क्या वजह है कि मानव तस्करी जैसे संगीन मामले में भी पुलिस की कार्रवाई FIR तक ही सीमित है? क्या पुलिस अपराधियों को जमानत मिलने का इंतजार कर रही है? अब देखना यह है कि आरोपी जमानत लेने में कामयाब होते हैं या पुलिस आरोपियों को दबोचने में सख्ती दिखाती है।

इसे भी पढ़ें : मानव तस्करी के सबसे बड़े सिंडेकेट तक पहुंच सकती है बेगूसराय पुलिस, सुई की तलाश थी, तलवारों का जखीरा मिला

अबतक किसी की गिरफ्तारी नहीं हुई : थानाध्यक्ष

इस पूरे मामले में हमने बखरी थानाध्यक्ष का भी पक्ष लिया है। बखरी थानाध्यक्ष विकास कुमार राय ने बताया कि इस कांड में अबतक किसी आरोपी की गिरफ्तारी नहीं हुई है।

You may also like

Leave a Comment

cropped-republicannews-logo.png

Editors' Picks

Latest Posts

© All Rights Reserved.

Follow us on