Bihar News : SHO ने थाने में महिला दारोगा को बेहोश कर बनाया शारीरिक संबंध, अश्लील वीडियो से करता था ब्लैकमेल, FIR दर्ज

by Republican Desk

Bihar News में चर्चा बिहार पुलिस के दामन को दागदार करती एक सनसनीखेज मामले से जुड़ी हुई। थानेदार ने थाने में महिला दारोगा को बेहोश कर बनाया शरारिक संबंध। फिर वीडियो बनाकर करता था ब्लैकमेल।

थानेदार की करतूत से बिहार पुलिस के दामन पर लगा दाग

बिहार पुलिस के दामन पर यह दाग है। ऐसा दाग जिसे धोना आसान नहीं है। थाने को न्याय की पहली चौखट कहा जाता है। लेकिन उसी दहलीज पर एक महिला दारोगा की इज्जत रोज तार तार होती रही। अब महिला दारोगा ने थानेदार के खिलाफ दर्ज कराई है एफआईआर। यह पूरा मामला पटना के जक्कनपुर थाने से जुड़ा है। आरोप है कि जक्कनपुर के थानेदार रहे सुदामा प्रसाद सिंह ने महिला दारोगा के साथ शारीरिक संबंध बनाने के बाद उसका अश्लील वीडियो भी बनाया। महिला दारोगा ने एससी-एसटी थाना में इंस्पेक्टर के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज कराया है। उन्होंने थाना में दिए गये आवेदन में लिखा है कि इंस्पेक्टर मुझे जबरन अपने क्वार्टर में बुलाते थे और मेरे साथ गलत काम करते थे। साथ ही यह भी धमकी देते थे कि अगर किसी से यह बात कहोगी या मेरी बात नहीं मानोगी तो तुम्हें सस्पेंड कर दूंगा।

मेरी पहुंच एसपी तक है, जैसा कहता हूं, वैसा करो

पटना के एससी-एसटी थाने में दर्ज एफआईआर में महिला दरोगा ने बताया है कि वह मुजफ्फरपुर जिले के गोबरसही की रहने वाली है। वर्तमान में वह जक्कनपुर थाना में पदस्थापित थी।। वहां सुदामा प्रसाद सिंह इंस्पेक्टर थे। सुदामा प्रसाद सिंह का कार्यकाल 1 नवंबर 2021 से 30 जनवरी 2024 तक रहा। आवेदन में महिला दारोगा ने लिखा है कि चूंकि मैं अनुसूचित जाति से हूं इसलिए थाना अध्यक्ष सुदामा कुमार सिंह मुझे ड्यूटी एवं अन्य कार्य के निष्पादन में मुझे विभिन्न तरह से प्रताड़ित करते थे। मुझे थाना परिसर स्थित अपने आवास पर आने के लिए दवाब बनाते थे। साथ ही वह यह भी कहते कि मेरे कहे अनुसार अगर काम नहीं करोगी या मेरी बात नहीं मानी तो तुमको काम में लापरवाही के आरोप में निलंबित करवा देंगे। वह यह भी धमकी देते थे कि मेरी पहुंच बहुत ऊपर तक है। उन्होंने कई बार इस बात का जिक्र किया कि मेरी पहुंच यहां के पुलिस अधीक्षक के साथ-साथ अन्य पुलिस अधीक्षक से भी है, इसलिए जैसा कहता हूँ वैसा करो।

Watch Video

कॉफी पिलाकर बेहोश किया, फिर लूट ली अस्मत

महिला दारोगा ने आवेदन में लिखा है कि एक दिन उन्होंने मुझे अपने क्वार्टर पर बुलाया। जब मैं वहां पहुंची तो मुझे उन्होंने कॉफी पीने को दिया। मैंने कॉफी पीने से आनाकानी की तो मुझपर सीनियर होने का दवाब बनाते हुए कॉफी पीने के लिए कहा। मैं वरीय पदाधिकारी के आदेश को नहीं टाल सकती थी इसलिए मुझे कॉफी पीनी पड़ी। कॉफी पीते ही मैं बेहोश हो गई और जब होश आया तब मेरा सबकुछ खत्म हो चूका था। मैं उनके पलंग पर निःवस्त्र थी। मैं अपने आपको इस अवस्था में देखकर रोने लगी।

अश्लील वीडियो बनाकर करते थे ब्लैकमेल, पेट पर लात मारने से हुआ गर्भपात

पीड़िता ने बताया है कि मुझे बेहोश कर के मेरे साथ उन्होंने गलत काम किया। साथ ही साथ, उन्होंने अश्लील वीडियो भी बना लिया। अब मुझे वीडियो का हवाला दे दे कर मेरे साथ यौन शोषण करने लगे। मेरे मना करने पर वह उस वीडियो को मेरे पति को दिखा देने की धमकी देने लगे। वह मुझे सस्पेंड करने की भी धमकी देते थे इसलिए उनके इशारों पर घुमने के लिए मैं मजबूर हो गई थी। अपनी नौकरी को बचाने के लिये मैं वह सब झेलने के लिए मजबूर थी।
थानेदार द्वारा जबरन शारीरिक संबंध बनाने के कारण मैं गर्भवती हो गई। पीड़िता का कहना है कि 15 सितंबर 2023 को सुदामा सिंह ने मेरे पेट पर इतना जोर से मारा कि मेरा गर्भपात हो गया। उन्होंने कहा कि उस गर्भपात के सारे कागजात मेरे पास उपलब्ध हैं।

वीडियो डिलीट करने कहती तो देते थे धमकी

पीड़िता का कहना है कि थानाध्यक्ष सुदामा प्रसाद सिंह मुझे धमकी देता था कि तुम मेरा कुछ नहीं बिगाड़ सकती हो। पीड़िता ने बताया कि जब मैं सुदामा कुमार सिंह को अश्लील वीडियो एवं फोटो डिलीट करने कहती तो वह मुझे नौकरी और जान की धमकी देकर चुप करा देते थे। वो बार-बार कहते थे कि मेरी पहुंच ऊपर तक है। तुम मेरा कुछ नहीं बिगाड़ सकती हो।

Watch Video

लापता होने पर चर्चा में आए थे थानेदार सुदामा प्रसाद सिंह

जक्कनपुर थानेदार सुदामा प्रसाद और उसी थाने में तैनात महिला दारोगा के बीच किसी बात को लेकर पिछले दिनों विवाद हो गया था। विवाद के बाद दोनों अचानक छुट्टी पर चले गए थे। एक महीना से अधिक का समय बीत जाने के बावजूद दोनों वापस ड्यूटी पर नहीं लौटे। थानेदार दो 30 दिसंबर को दिन की छुट्टी का आवेदन देकर चले गए थे। जबकि महिला दारोगा मां के देहांत होने के बाद छुट्टी पर थी। दोनों छुट्टी से वापस नहीं लौटे। महिला दारोगा के रिश्तेदारों की शिकायत पर पुलिस मुख्यालय इसकी जांच का जिम्मा सदर एएसपी को दिया। एएसपी ने जांच करने के बाद रिपोर्ट पूर्वी एसपी संदीप सिंह को सौंप दी। वहीं पूर्वी एसपी ने जांच रिपोर्ट एसएसपी राजीव मिश्रा को भेज दिया।

सुदामा प्रसाद सिंह से नहीं हो सका संपर्क

गंभीर आरोपों में घिरे इंस्पेक्टर सुदामा प्रसाद सिंह का पक्ष जानने की कोशिश की गई। हमने अलग-अलग माध्यम से उनसे संपर्क करने का प्रयास किया। लेकिन उनसे संपर्क नहीं हो सका। अब सुदामा प्रसाद सिंह के सामने आने के बाद ही उनका पक्ष सामने आ सकेगा।

You may also like

Leave a Comment

cropped-republicannews-logo.png

Editors' Picks

Latest Posts

© All Rights Reserved.

Follow us on