Bihar News : महिला को ऐसी मौत किसने दी? हाथों को बांध सिर-धड़ अलग किया, शरीर पर कपड़े नहीं छोड़े

Bihar News में इस समय एक बेहद शर्मनाक सूचना। एक बुजुर्ग महिला की लाश मिली है। कई टुकड़ों में। सिर धड़ से अलग था। कान भी कटा हुआ। शरीर पर कपड़े भी नहीं।

Bihar DGP RS Bhatti- File Photo
डीजीपी भट्‌टी ने ज्वाइनिंग के समय ढेर सारे दावे किए थे, लेकिन पुलिस का इकबाल बुलंद नहीं दिख रहा।

Bihar Police का खौफ होता तो शायद इतनी हिम्मत नहीं जुटाते अपराधी

पटना के फुलवारीशरीफ में पिछले साल 73 साल की एक महिला की वीभत्स हत्या सामने आयी थी। इस बार भी वैसी ही घटना समस्तीपुर (Samastipur Bihar) में सामने आयी है। पटना में महिला से दुष्कर्म भी हुआ था, पुलिस (Bihar Police) ने महीनों बाद इसे स्वीकार किया। इस केस में क्या हुआ है, कुछ कहा नहीं जा सकता। इसलिए, रिपब्लिकन न्यूज़ (Republicannews.in) महिला का नाम उजागर नहीं कर रहा है। महिला की हत्या सिर्फ लूट के लिए होती तो नाक-कान के जेवर ले जाता कोई। इस तरह हाथ-पैर बांधकर सिर को धड़ से अलग नहीं करता! कान काटकर नहीं छोड़ता! कपड़े तो कम-से-कम शरीर पर जरूर छोड़ता!

अकेली रह रही थी गांव में, बच्चों ने देखी लाश तो चीख पड़े

मामला समस्तीपुर जिले के सरायरंजन थाना क्षेत्र का है। अगड़ी जाति की यह गरीब महिला गांव में छोटी-सी दुकान लगाकर जीवनयापन कर रही थी। 62 साल की महिला गांव में अकेली थी, लेकिन किसी को इस तरह की घटना की आशंका नहीं थी। दो बेटे दूसरे राज्य में रहकर पेट पाल रहे हैं। साेमवार सुबह उनकी कोठली का दरवाजा खुला मिला, तब भी किसी को ऐसी आशंका नहीं लगी। कुछ घंटे जब नहीं आयीं तो बाकी रिश्तेदारों ने खोजबीन शुरू की। पता नहीं चल रहा था, लेकिन अचानक गेहूं की खेत में गए बच्चों ने इस हालत में लाश देखी तो चीखते हुए आए। गांव वालों ने लाश की हालत देखकर तत्काल पुलिस को सूचना दी।

पुलिस के पास बताने के लिए कुछ भी नहीं

सीसीटीवी लगाकर बाइक-कार का चालान करते हुए अपनी पीठ थपथपा रही बिहार पुलिस के पास इस मामले में कुछ भी नहीं। डीजीपी के रूप में आरएस भट्‌ठी ने जब कार्यभार संभाला था तो अपराधियों का पीछा करने की बात कही थी। लेकिन, हकीकत यह है कि पुलिस का इकबाल दिख ही नहीं रहा। सरायरंजन में यह घटना क्यों और कैसे हुई है, इस बारे में न तो लोग कुछ बता पा रहे हैं और न पुलिस के पास कुछ कहने के लिए है।

मृतक महिला के दोनों पुत्रों को सूचना दी गई है। पुलिस उनसे जानकारी लेने के बाद कुछ संकेत मिलने की बात कह रही है। सरायरंजन थानाध्यक्ष रविकांत के अनुसार पुलिस अपने स्तर से मामले में जांच कर रही है, क्योंकि परिवार के लोगों ने अभी प्राथमिकी के लिए आवेदन नहीं दिया है।

किस्मत! बच गए थानेदार, वरना…

ओवैसी का ऐसे लगाया गया उपाय

You may also like

1 comment

Leave a Comment

cropped-republicannews-logo.png

Editors' Picks

Latest Posts

© All Rights Reserved.

Follow us on