Bihar News : नाबालिग से रेप व हत्याकांड में मुख्य गवाह की मौत, हत्या या हादसा? बेगूसराय में सनसनी

रिपब्लिकन न्यूज, बेगूसराय

by Republican Desk

Bihar News में एक बार बेगूसराय का चर्चित बलात्कार व हत्याकांड सुर्खियों में है। पिछले साल हुए इस बहुचर्चित हत्याकांड में पूर्व मुखिया के कैंपस से नालाबिग की लाश मिली थी। अब इस कांड की मुख्य गवाह की मौत से सनसनी फ़ैल गई है।

मुख्य गवाह दादी की मौत से उठे सवाल (फोटो : RepublicanNews.in)

मीठी हत्याकांड : मुख्य गवाह दादी की मौत से उठे सवाल

नालाबिग से रेप और उसकी हत्या कर दी गई थी। जुलाई 2023 में हुए हत्याकांड ने बड़ा बवाल खड़ा कर दिया था। बेगूसराय में एक 10 साल की मासूम बच्ची के साथ बलात्कार के बाद इस हत्याकांड ने पुलिस पर सवाल उठाए थे। पूर्व मुखिया के कैंपस से लाश को खुदाई कर बरामद किया गया था। इस मामले में पूर्व मुखिया समेत 3 आरोपी हाई कोर्ट से जमानत पर बाहर हैं। जबकि तीन आरोपी अभी भी जेल में बंद हैं। मंगलवार को इस केस की अहम गवाही होनी थी। लेकिन गवाही से पहले ही इस केस की मुख्य गवाह मृतक बच्ची की दादी की भी मौत हो गई। परिजनों का आरोप है कि गवाह की हत्या की गई है। हालांकि फिलहाल इस मामले में पुलिस कुछ भी कहने को तैयार नहीं है।

बेसमेंट की खुदाई कर निकाला गया था शव

दुष्कर्म और हत्या की यह वारदात बछवारा थाना क्षेत्र में हुई थी। 24 जुलाई 2023 को पूर्व मुखिया राकेश कुमार सिंह के कैंपस में मेहंदी तोड़ने गई 10 साल बच्ची मीठी के साथ दुष्कर्म की घटना को अंजाम दिया गया और फिर उसकी हत्या कर शव को बेसमेंट में दफनाया गया था। घटना के चार दिन के बाद पुलिस ने पूर्व मुखिया राकेश सिंह समेत आधा दर्जन लोगों को गिरफ्तार किया और उसके बेसमेंट की खुदाई कर बच्ची का शव बरामद किया था। 2 जुलाई को मुख्य गवाह मृतक बच्ची की दादी की गवाही कोर्ट में होनी थी। गवाही को लेकर वह अपने दामाद के साथ बाइक से बेगूसराय वकील से मिलने जा रही थी। परिजनों का आरोप है कि सिंघौल थाना क्षेत्र के एनएच 31 पर अपराधियों ने पीछे से महिला के सिर पर हमला किया। जिससे महिला वहां गिर गई और जख्मी हो गई। उसे इलाज के लिए अस्पताल में भर्ती कराया गया। जहां उसकी मौत हो गई। मौत के बाद परिजन शव को लेकर अपने गांव चले गए। हालांकि बछवाड़ा थाना पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए सदर अस्पताल बेगूसराय भेज दिया है।

Watch Video

पूर्व मुखिया समेत 3 जमानत पर हैं बाहर

मृतिका के पुत्र ने बताया कि उनकी बेटी मीठी की बलात्कार के बाद हत्या किया गया था। इस हत्याकांड में पूर्व मुखिया राकेश सिंह, सुधीर कुमार उर्फ गुड्डू सिंह, शिवम कुमार उर्फ ओम जी, नवीन कुमार उर्फ पप्पू, संजीव कुमार उर्फ डाक बाबू और महेश की गिरफ्तारी हुई थी। राकेश सिंह, नवीन कुमार और संजीव कुमार को हाई कोर्ट से जमानत मिल चुकी है। मृतिका की दादी मीना देवी इस केस की मुख्य गवाह थी। 2 जुलाई को गवाही होनी थी। इसलिए वह वकील से मिलने जा रही थी। लेकिन रास्ते में ही बदमाशों ने उसके सिर पर हमला कर हत्या कर दिया। फिलहाल पुलिस सभी बिंदुओं पर जांच कर रही है।

You may also like

Leave a Comment

cropped-republicannews-logo.png

Editors' Picks

Latest Posts

© All Rights Reserved.

Follow us on