शिक्षक भर्ती : वामपंथियों ने की डील, आंदोलन दबाने की मिली सुपारी? शत्रुघ्न सिंह खामोश

by Republican Desk

आरोप है कि वामपंथी विचारधारा से ताल्लुक रखने वाले शत्रुघ्न सिंह समेत कई नेताओं ने नीतीश सरकार के साथ एक डील कर ली है। यह डील गुपचुप तरीके से की गई है। आरोप यहां तक है कि फिर से माननीय (किसी सदन के सदस्य) बनने के लिए शिक्षकों के आंदोलन को दबाने की सुपारी दी गई है। इन आरोपों पर शत्रुघ्न सिंह का कोई जवाब अब तक नहीं आया है।

पटना। शिक्षक भर्ती के मुद्दे पर सियासी बवाल के बीच शिक्षक नेता और पूर्व सांसद शत्रुघ्न सिंह पर गंभीर आरोप लग रहे हैं। यह आरोप उनके ही पुराने साथी शैलेंद्र कुमार शर्मा ने लगाया है।

आरोप है कि वामपंथी विचारधारा से ताल्लुक रखने वाले शत्रुघ्न सिंह समेत कई नेताओं ने नीतीश सरकार के साथ एक डील कर ली है। यह डील गुपचुप तरीके से की गई है। आरोप यहां तक है कि फिर से माननीय (किसी सदन के सदस्य) बनने के लिए शिक्षकों के आंदोलन को दबाने की सुपारी दी गई है। इन आरोपों पर शत्रुघ्न सिंह का कोई जवाब अब तक नहीं आया है। मीडिया की सुर्खियों में सुबह से खबरें चल रही हैं। बावजूद इसके शत्रुघ्न सिंह का खामोश रहना बहुत कुछ बयां कर रहा है।

सवाल यह है कि आखिर बंद कमरे में ‘राज्य के राजा’ के साथ वामपंथियों की ऐसी कौन सी डील हुई जिसके बाद शिक्षक नेता शैलेंद्र कुमार शर्मा ने यहां तक आरोप लगा दिए कि शिक्षकों को राज्यकर्मी का दर्जा नहीं दिया जाएगा। शैलेंद्र कुमार शर्मा का यह दावा अगर सच है और आने वाले समय में अगर शिक्षकों को राज्यकर्मी का दर्जा नहीं मिलता है तो निश्चित तौर पर इन आरोपों पर मुहर लग जाएगी। हमने शत्रुघ्न सिंह का पक्ष जानने के लिए उनके नंबर पर संपर्क करने की कोशिश की, लेकिन उनका नंबर नहीं लगा।

You may also like

Leave a Comment

cropped-republicannews-logo.png

Editors' Picks

Latest Posts

© All Rights Reserved.

Follow us on