Lok Sabha Election 2024 : इतना बड़ा चमत्कार! महिलाओं ने कूदकर बचा दी लोकसभा चुनाव की इज्जत

by Republican Desk

Lok Sabha Election 2024 में भारत निर्वाचन आयोग और प्रत्याशियों के साथ लोकतंत्र के महापर्व, यानी चुनाव की इज्जत महिलाओं ने बचा दी है। आधी आबादी ने बहुत बड़ा चमत्कार कर दिखाया है। आप भी जानकर चौंक जाएंगे।

Lok Sabha Election 2024 Election Commission of India Parliament Election

Election Commission of India के आंकड़ों ने दिखाई हकीकत

आधी आबादी ने लोकतंत्र के महापर्व, यानी चुनाव की इज्जत बचा ली है। देशभर में। बिहार जैसे पिछड़े राज्य में तो महिलाएं पुरुषों से बहुत आगे हैं। वह भी तब, जबकि इस बार लोकसभा चुनाव में महिला प्रत्याशी मैदान में इक्का-दुक्का ही हैं। मौजूदा आम चुनाव 2024 में 49 लोकसभा सीटों के लिए पांचवें चरण में कुल 62.2% मतदान दर्ज किया गया है। पांचवें चरण में इन 49 सीटों पर औसतन 61.48 प्रतिशत पुरुषों ने वोट डाले, जबकि महिलाओं ने 63 प्रतिशत मतदान किया। आश्चर्यजनक रूप से थर्ड जेंडर का मतदान प्रतिशत 21.96 प्रतिशत रहा। ओडिशा में 13-कंधमाल संसदीय क्षेत्र के दो मतदान केंद्रों पर पुनर्मतदान आज संपन्न हो जाएगा और पुनर्मतदान के लिए डेटा अपडेट होने के बाद आंकड़ों को और अधिक अपडेट किया जाएगा।

बिहार-झारखंड में महिलाओं ने पुरुषों के मुकाबले ज्यादा तादाद में वोट डाले।

Phase 5 Voter Turnout जारी करते हुए आयोग ने लिखा…

निर्वाचन आयोग ने मतदान के बाद कई बार आंकड़े संशोधित किए हैं और अब उपचुनाव वाले बूथों को छोड़ दें तो यह आंकड़ा अंतिम ही माना जाएगा। फिर भी आयोग ने स्पष्ट किया है कि अंतिम मतदान केवल डाक मतपत्रों की गिनती और कुल मतों की गिनती में इसके जुड़ने के बाद ही उपलब्ध होगा। डाक मतपत्रों में सेवा मतदाताओं, अनुपस्थित मतदाताओं (85+, PwD, आवश्यक सेवाओं आदि) और चुनाव ड्यूटी पर मतदाताओं को दिए गए डाक मतपत्र शामिल हैं। वैधानिक प्रावधानों के अनुसार प्राप्त ऐसे डाक मतपत्रों का दैनिक लेखा-जोखा सभी उम्मीदवारों को दिया जाता है। आयोग ने यह भी दुहराया है कि किसी निर्वाचन क्षेत्र के प्रत्येक मतदान केंद्र के लिए उम्मीदवारों को उनके मतदान एजेंटों के माध्यम से फॉर्म 17सी की प्रति भी प्रदान की जाती है। फॉर्म 17 सी का वास्तविक डेटा मान्य होगा जो पहले ही उम्मीदवारों के साथ साझा किया गया है।

बिहार-झारखंड की हर सीट पर महिलाओं का वोट प्रतिशत ज्यादा। मधुबनी की इज्जत तो सिर्फ महिलाओं के कारण ही।

Women Candidate देखेंगे तो चौंक जाएंगे

बिहार में इस दफा महिला प्रत्याशियों के मामले में देश की सबसे बड़ी पार्टी भारतीय जनता पार्टी के हाथ खाली रहे। भाजपा ने इकलौती सांसद रमा देवी का टिकट काट दिया। उनकी शिवहर सीट जनता दल यूनाईटेड को दी गई। यहां से जदयू ने बाहुबली आनंद मोहन की पत्नी लवली आनंद को उतारा है। जदयू ने ही विजय लक्ष्मी कुशवाहा को महिला प्रत्याशी के रूप में उतारा। राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन में तीसरी महिला प्रत्याशी लोक जनशक्ति पार्टी से शांभवी चौधरी हैं, जो बिहार में जदयू कोटे के मंत्री डॉ. अशोक चौधरी की बेटी हैं। दूसरी ओर, महागठबंधन ने इस मामले में राजग को बहुत पीछे छोड़ दिया। लालू यादव ने अपनी पार्टी की दो सीटें अपनी दो बेटियों मीसा भारती और रोहिणी आचार्य को दीं। इसके अलावा, कुख्यात अपराधी अशोक महतो की नई-नवेली पत्नी अनिता देवी, नीतीश सरकार की पूर्व मंत्री बीमा भारती, रितु जायसवाल और अर्चना रविदास को भी महिला खाते में राजद ने मैदान में उतारा है।

You may also like

Leave a Comment

cropped-republicannews-logo.png

Editors' Picks

Latest Posts

© All Rights Reserved.

Follow us on