Nitish Kumar सरकार के दो अफसरों पर शनि की शामत; एक दफ्तर में पिटे, दूसरे फील्ड में

by Republican Desk

Bihar News में शनिवार को बिहार सरकार के दो अफसरों की पिटाई की खबर जानिए। दोनों की अलग-अलग जगह पिटाई हुई। दोनों की पिटाई की वजह भी अलग थी। कॉमन यह कि दोनों ही जगह नाराजगी की इंतहा थी।

बाएं पत्नी से पिटते कार्यपालक अभियंता, दाएं महिला से मार खाते प्रखंड शिक्षा पदाधिकारी।

बिहार की नीतीश कुमार सरकार के दो अफसरों पर शनि भारी पड़ा। दोनों की सार्वजनिक कुटाई-पिटाई हुई। एक कार्यपालक अभियंता हैं, दूसरे प्रखंड शिक्षा पदाधिकारी। कार्यपालक अभियंता की पिटाई औरगंबाद में हुई, जबकि शिक्षा विभाग के अधिकारी को जमुई में पीटा गया। कार्यपालक अभियंता घरवाली से पिटे तो प्रखंड शिक्षा पदाधिकारी अपरिचित महिलाओं से। दोनों जगह मजमा लगा। बातें हुईं। मजाक बना। आइए, जानते हैं कि आखिर सरकारी अफसरों पर शनि की शामत आयी क्यों?

पत्नी पीटती रही, अभियंता गिड़गिड़ाते रहे
औरंगाबाद शहर में बिहार सरकार के एक कार्यपालक अभियंता (Executive Engineer) को पत्नी ने जमकर पीटा। जहां मौका लगा, वहीं। दफ्तर से लेकर बाहर तक। थप्पर चलाए। फिर जो भी हाथ आया, उसी से। शनिवार दोपहर यह घटना दानी बिगहा स्थित स्थानीय क्षेत्र अभियंत्रण संगठन (LAEO) के कार्यपालक अभियंता कार्यालय में ही हुई। कार्यपालक अभियंता विनोद कुमार रंजन को उनकी पत्नी स्मिता रंजन ने कहीं का नहीं छोड़ा। अभियंता पत्नी के हाथों पिटते रहे और गिड़गिड़ाते रहे कि आपस का मामला है, घर का मामला है। मिल बैठकर सलट लेंगे। लेकिन, वह मानने को तैयार नहीं हुई। वह खदेड़ते हुए पीटती रही और पति बचने के लिए भागता रहा। बाद में पत्नी ने बताया कि इंजीनियर पति ने उन्हें और उनके बच्चों को छह महीने से छोड़ रखा है। अपनी एक जूनियर से उनका अवैध संबंध है, जिसके कारण हमें गुजारा के लिए भी कुछ नहीं दे रहे। हर तरह से संपर्क का प्रयास बेकार गया तो यहां आना पड़ा। इस प्रकरण की शिकायत सरकार को कई बार अलग-अलग स्तर पर अलग-अलग तरीके से देने के बावजूद असर नहीं हुआ तो खुद ही समाधान के लिए आना पड़ा। मामला महिला थाना पहुंच गया है, हालांकि समझौता हुआ या नहीं- किसी को नहीं पता। दिन में यह सब मोबाइल कैमरों के सामने हुआ और महिला ने खुद अपनी पहचान बताते हुए पूरी जानकारी दी, इसलिए यह खबर जंगल में आग की तरह फैल गई।

केके पाठक के विभाग के अफसर पिटे
शनिवार को शिक्षा विभाग के अफसर के पिटने की वजह निजी नहीं, सरकारी थी। यह विभाग अभी सीनियर आईएएस केके पाठक के कारण चर्चा में है। खबर चलायी जाती है कि पाठक के कारण विद्यालयों में पढ़ाई होने लगी है, जबकि जमुई के सिमुलतला थाना क्षेत्र के नवीन प्राथमिक विद्यालय दुमकवा में लोगों ने पांच दिनों से ताला जड़ रखा था। शिक्षकों के नहीं आने से गुस्साए लोगों ने यह तालाबंदी कर रखी थी। शनिवार को ताला खुलवाने के लिए प्रखंड शिक्षा पदाधिकारी (BEO) महेंद्र प्रसाद सिंह पहुंचे थे। गुस्साए लोगों से बात भी गरमागरम हो रही थी। इस बीच किसी ने बीईओ पर रोड़ेबाजी कर दी। विद्यालय के प्रभारी रंजीत दास को बंधक बना लिया। बात इस तरह बढ़ी कि एक महिला ने उन्हें पीट दिया। जवाब में उन्होंने हाथ उठाया ही था कि घिर गए और फिर महिलाओं के साथ पुरुषों की भीड़ ने प्रखंड शिक्षा पदाधिकारी को 100 मीटर तक दौड़ा-दौड़ाकर पीटा। घटना की जानकारी पर पहुंचे मीडियाकर्मियों ने बीचबचाव कर प्रखंड शिक्षा पदाधिकारी को ग्रामीणों की चंगुल से छुड़ाते हुए इलाज के लिए सिमुलतला अस्पताल पहुंचाया।

You may also like

Leave a Comment

cropped-republicannews-logo.png

Editors' Picks

Latest Posts

© All Rights Reserved.

Follow us on