Bihar Teacher News : अब शिक्षकों का लोकेशन होगा ट्रैक, स्कूल के बदले कहीं और रहे तो पकड़े जाएंगे

रिपब्लिकन न्यूज, पटना

by Republican Desk

Bihar News में खबर Bihar Teacher News से जुड़ी हुई। बिहार में पहली बार शिक्षकों की उपस्थिति तय करने के लिए डिजिटल अटेंडेंस का सहारा लिया जा रहा है।

लोकेशन ट्रैक करेगा एप, काट ली जाएगी सैलरी फोटो : RepublicanNews.in

Teachers अब नहीं कर सकेंगे गोलमाल

अब सरकारी स्कूल के शिक्षक छुट्टी लेकर इधर-उधर नहीं कर सकेंगे। रजिस्टर पर अटेंडेंस बनाकर अपने निजी काम से कहीं घूम नहीं सकेंगे। शिक्षा विभाग ने सरकारी स्कूल के शिक्षकों के अटेंडेंस प्रक्रिया में बड़ा बदलाव का ऐलान किया है। 25 जून से शिक्षकों की ऑनलाइन उपस्थिति दर्ज की जाएगी। इसके लिए शिक्षा विभाग ई-शिक्षाकोष एप का सहारा लेने जा रहा है। इस एप्लीकेशन की मदद से शिक्षकों का ऑनलाइन अटेंडेंस दर्ज होगा। अगर आप स्कूल के दायरे से बाहर होंगे तो यह एप आपके लोकेशन से आपको ट्रैक कर लेगा।

जानिए कैसे बनाना है अटेंडस, पूरा प्रोसेस समझ लीजिए

सरकारी स्कूलों से शिक्षकों के लापता रहने की शिकायतें अक्सर सामने आती रहती हैं। ऐसे में शिक्षा विभाग ने इसका उपाय ढूंढ निकाला है। विभाग के अपर सचिव डॉक्टर एस. सिद्धार्थ ने सभी जिला शिक्षा पदाधिकारियों को पत्र जारी कर प्रतिदिन ऑनलाइन उपस्थिति दर्ज करने के निर्देश दिए हैं। इसके लिए सभी प्रधानाध्यापक और शिक्षक गूगल प्ले स्टोर से ई-शिक्षाकोष पोर्टल अपने मोबाइल फोन में डाउनलोड करेंगे। इसके बाद शिक्षक अपने आइडी से ई-शिक्षाकोष एप पर लाग-इन करेंगे। जिन शिक्षकों के पास पहले शिक्षक आइडी उपलब्ध नहीं है या भूल गए है, वैसे शिक्षक विद्यालय के प्रधानाध्यापक से संपर्क कर अपना आइडी जनरेट कर सकते हैं। प्रधानाध्यापक स्कूल के लाग-इन आइडी से शिक्षक माड्यूल में जाकर संबंधित को आइडी उपलब्ध कराएंगे। शिक्षक अपने शिक्षक आइडी से ई-शिक्षाकोष एप में लाग-इन करने के पश्चात डैशबोर्ड पर अंकित मार्क एटेंडेंस बटन को क्लिक करेंगे। विद्यालय में उपस्थित रहने की स्थिति में प्रधानाध्यापक व शिक्षक द्वारा सेल्फ एटेंडेंस के विकल्प का चयन करते हुए बटन को क्लिक करना होगा।

Watch Video

पांच सौ मीटर की परिधि में रहना अनिवार्य

आनलाइन एटेंडेंस बनाने के लिए शिक्षकों को संबंधित विद्यालय की पांच सौ मीटर की परिधि में रहना अनिवार्य है। विद्यालय के पांच सौ मीटर की परिधि में रहने की स्थिति में शिक्षक को उनके मोबाइल स्क्रीन पर दो बटन ( एक स्कूल इन और दूसरा स्कूल आउट) दिखाई देगा। शिक्षक विद्यालय आते ही आनलाइन अपनी उपस्थिति दर्ज करने के लिए मोबाइल स्क्रीन पर अंकित स्कूल-इन बटन को क्लिक करेंगे एवं विद्यालय से जाते समय स्कूल-आउट बटन को क्लिक करेंगे। स्कूल-इन बटन को क्लिक करते ही मोबाइल का कैमरा सेल्फी मोड में खुल जाएगा एवं मोबाइल स्क्रीन पर कैप्चर एवं कन्फर्म बटन दिखाई देगा। प्रधानाध्यापक व शिक्षक द्वारा पहले कैप्चर बटन क्लिक किया जाएगा। जिसके उपरांत उनका फोटो, दिनांक, एवं समय आदि स्क्रीन पर दिखाई देगा। यदि फोटो, दिनांक और समय सही है तो कन्फर्म बटन क्लिक किया जाएगा। जिसके बाद संबंधित प्रधानाध्यापक व शिक्षक का फोटो एवं समय के साथ उपस्थिति एप पर दर्ज हो जाएगी।

लोकेशन ट्रैक करेगा एप, काट ली जाएगी सैलरी

शिक्षा विभाग की इस पहल से स्कूलों में शिक्षकों की उपस्थिति बढ़ने की उम्मीद है। क्योंकि यदि शिक्षक विद्यालय के पांच सौ मीटर की परिधि में नहीं रहेंगे तो यह ऐप उनके लोकेशन को ट्रैक कर लेगा। ऐसी स्थिति में रजिस्टर पर अटेंडेंस बनाकर फरार रहने वाले शिक्षक पकड़े जाएंगे। लिहाजा उन्हें स्कूल इन और स्कूल आउट का अटेंडेंस हर हाल हर हाल में 500 मीटर की परिधि में रहकर ही बनाना होगा। विभाग ने साफ कर दिया है कि एक भी लापरवाही पर सीधे सैलरी काट ली जाएगी।

You may also like

Leave a Comment

cropped-republicannews-logo.png

Editors' Picks

Latest Posts

© All Rights Reserved.

Follow us on