Bihar Police पर पथराव; एक साथ दो युवक भीड़ के हत्थे चढ़े, लूट के प्रयास पर जनता का इंसाफ, देर से पहुंची पुलिस

by Republican Desk

Bihar Police आखिर कितनी मुस्तैद है? सीसीटीवी से चालान काटने के अलावा कहीं मुस्तैदी नहीं दिखती। पटना के खेमनीचक की यह घटना तो ऐसा ही कुछ बता रही।

भीड़ के कदमों में दो मृतप्राय हैं। तीसरा जान बचाकर भाग निकला।

Bihar Police ने माना- रंगदारी-अगवा के लिए आए थे अपराधी

बिहार से इस समय की एक बड़ी वारदात (Bihar News) राजधानी पटना में सामने आयी है। उसी पटना में जहां चप्पे-चप्पे पर बिहार पुलिस (Bihar Police) न केवल सीसीटीवी से निगरानी करती है, बल्कि वाहनों का चालान काट रही है। हां, राजधानी पटना की ही यह वारदात है। मुख्यमंत्री नीतीश कुमार (Nitish Kumar) के नेतृत्व में राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन की सरकार बनने के बाद सामने इस तस्वीर में दो लोग गिरे पड़े दिख रहे हैं। सांसें चल रहीं या नहीं, यह भी लोग ही सवाल कर रहे एक-दूसरे से।

यह पुलिस की गैर-मौजूदगी में जनता का इंसाफ (Mob Lynching in Bihar) है। मॉब लिंचिंग की यह घटना पटना के रामकृष्णनगर (Ramkrishnanagar Patna) थाना क्षेत्र के खेमनीचक की है। दोनों मरे हैं या जिंदा हैं, इस बारे में पुलिस अभी पुष्टि नहीं कर रही है। बेसुध और मृतप्राय पड़े हैं, यह लोग बता रहे हैं। गुरुवार देर शाम करीब आठ बजे यह घटना हुई। पुलिस के देर से पहुंचने पर गुस्साए लोगों ने 112 नंबर की गाड़ी पर भी पथराव किया।

Bihar Police के पहुंचने से पहले भारी भीड़ हुड़दंग करती रही।
लोगों ने Bihar Police का नहीं किया इंतजार

घटना गुरुवार रात करीब आठ बजे रामकृष्णनगर थाना क्षेत्र के खेमनीचक में बैंक ऑफ इंडिया शाखा के पास हुई। बताया जाता है कि आदर्श स्कूल के निदेशक मनोज कुमार के आवास पर तीन अपराधी रंगदारी वसूलने आए थे। तीनों ने निदेशक को परिवार समेत अपने कब्जे में कर लिया था। अपराधियों की संख्या तीन से ज्यादा बताई जा रही है, हालांकि एक को ही भागते देखा गया और दो भीड़ के हत्थे ही चढ़ गए।

शोरगुल से आसपास के लोगों को जानकारी लग गई तो गांव-शहर के मिश्रित बसावट वाले इलाके के लोग जुट गए। अपराधियों को लगा कि भीड़ भारी पड़ेगी तो वह भागने लगे। मूल रूप से कितने अपराधी थे, यह किसी सीसीटीवी में आया या नहीं- इसकी जानकारी नहीं मिल सकी है। लोगों ने एक को भागते देखा, जबकि दो को पकड़कर कर बुरी तरह पीट दिया। इस तरह पिटाई की गई है कि कोई आम आदमी रहे तो जान नहीं बचे। लोगों ने तब तक दोनों को पीटा, जबतक मरा नहीं मान लिया।

दोनों गंभीर, तीन अपराधियों के भागने की सूचना

रामकृष्णनगर थाने से पुलिस आयी तो दोनों अपराधियों को अपने कब्जे में लेकर इलाज के लिए पटना और नालंदा मेडिकल कॉलेज अस्पताल भेज दिया। बिहार पुलिस की टीम ने घटनास्थल पर ही अपराधियों के पास से एक लोडेड पिस्तौल बरामद किया है। रामकृष्णनगर थाना प्रभारी ने बताया कि विद्यालय निदेशक को अगवा करने का प्रयास किया गया था, जिसपर आसपास के लोग उग्र हो गए और अपराधियों की जमकर पिटाई कर दी।

उन्होंने बताया कि बुरी तरह घायल दोनों अपराधियों को पुलिस ने अस्पताल भेजा। एक की पहचान दीपक कुमार के रूप में हुई। उसका इलाज PMCH में चल रहा है। दूसरा सोनू कुमार है, जिसका इलाज NMCH में चल रहा है। प्राथमिक पूछताछ में अपराधियों की संख्या पांच बताई जा रही है। घायल युवकों की स्थिति गंभीर बनी हुई है। घटना के बाद खेमनीचक इलाके में घंटों अफरातफरी रही।

मर चुके शिक्षक की हो गई शादी… खबर आपने पढ़ी?
Bihar News में आज यह वीडियो वायरल हो गया

You may also like

Leave a Comment

cropped-republicannews-logo.png

Editors' Picks

Latest Posts

© All Rights Reserved.

Follow us on