Bihar News : वंदे भारत, राजधानी व शताब्दी को उड़ा देंगे… लेटर से मिली धमकी, Rail Police के उड़े होश

by Republican Desk

Bihar News में बात उस लेटर की, जिसने Rail Police के होश उड़ा दिए। इस लेटर में वंदे भारत, राजधानी और शताब्दी ट्रेन को उड़ाने की धमकी दी गई थी।

वंदे भारत, राजधानी और शताब्दी ट्रेन को उड़ाने की धमकी दी गई है

डेढ़ करोड़ दे दो, वरना वंदे भारत एक्सप्रेस, राजधानी एक्सप्रेस और शताब्दी ट्रेनों को उड़ा देंगे…। एक लेटर में इतनी बड़ी धमकी मिलने के बाद रेल पुलिस के होश उड़ गए हैं। धमकी भरे लेटर में जो पता दिया गया है, उसकी जांच में भी रेल पुलिस को अबतक कोई ठोस सबूत हाथ नहीं लगा है। ऐसे में अब इंटेलिजेंस को भी एक्टिव कर दिया गया है।
छठ पर्व के कारण बिहार आने वाली ट्रेनों में भीड़ बढ़ती जा रही है। रेलवे पुख्ता इंतजाम में लगा है। इस बीच राजेंद्र नगर टर्मिनल के स्टेशन मैनेजर को मिली एक धमकी ने रेल पुलिस के होश उड़ा दिए हैं।

एक के बाद पहुंचा धमकी का दूसरा लेटर, डेढ़ करोड़ की डिमांड

पटना रेल पुलिस ने एक प्रेस विज्ञप्ति जारी कर जो जानकारी मीडिया से साझा की है, वह चौंकाने वाली है। रेल पुलिस ने बताया है कि उन्हें राजेंद्र नगर टर्मिनल के स्टेशन मैनेजर ने एक आवेदन दिया है। इस आवेदन में स्टेशन मैनेजर ने बताया है कि उन्हें लगातार दो पत्र मिले हैं। इस पत्र में धमकी दी गई है कि अगर डेढ़ करोड़ रुपए नहीं दिए तो राजधानी, शताब्दी और वंदे भारत ट्रेन नहीं बचेगी।

पहले लेटर को माना मजाक, फिर मिला दूसरा लेटर

स्टेशन मैनेजर ने पहले लेटर को मजाक समझा। लेकिन, जब दूसरा लेटर मिला तो उनके कान खड़े हो गए। साधारण डाक से भेजे गए दोनों लेटर में भेजने वाले का एक ही पता दिया गया है। लिहाजा, स्टेशन मैनेजर ने पटना रेल पुलिस को लिखित आवेदन देकर जांच और कारवाई की बात कही है।

जांच कर रही पुलिस परेशान, पते पर पहुंची तो मिली ये जानकारी

रेल पुलिस ने लेटर मिलने के बाद जांच तेज कर दी। सबसे पहले रेल थाना कांड संख्या 1005/23 दर्ज किया गया। पुलिस तत्काल उस व्यक्ति के पास पहुंचीं, जिनका नाम लेटर भेजने वाले के स्थान पर लिखा गया है। लेटर में भेजने वाले का नाम कमलदेव सिंह और पता पटना के रामकृष्ण नगर अंतर्गत डीएमटी पथ दर्ज है। पुलिस की अनुसंधान में ये बात सामने आई है कि कमलदेव सिंह मूल रूप से नालंदा जिले के चंडी का रहने वाला है। पुलिस ने जब कमलदेव सिंह से लेटर के संबंध में पूछताछ की तो उन्होंने कहा कि ये लेटर उन्होंने नहीं भेजा है। कमलदेव सिंह ने आरोप लगाया कि उन्हें फंसाने के लिए ये लेटर अगमकुआं थाना क्षेत्र के कुम्हरार अंतर्गत चाणक्य नगर निवासी अनुज किशोर प्रसाद ने भेजी है। अनुज किशोर प्रसाद मूल रूप से नालंदा जिले के कराय थाना क्षेत्र के मलिकपुर का रहने वाला है। अनुज किशोर प्रसाद पेशे से शिक्षक है। कमलदेव सिंह का आरोप है जमीन के पैसे को लेकर उनका विवाद अनुज के साथ चल रहा है। इसलिए उन्हें फंसाने के लिए अनुज ने ऐसा किया है। पुलिस ने अनुज से भी पूछताछ की। लेकिन, उसने भी लेटर भेजने से इंकार कर दिया। ऐसे में अब पुलिस ने दोनों की लिखावट का सैंपल लेकर धमकी के लेटर से मिलान की प्रक्रिया शुरू कर दी है। फिलहाल दोनों को पीआर बॉन्ड पर छोड़ दिया गया है।

You may also like

Leave a Comment

cropped-republicannews-logo.png

Editors' Picks

Latest Posts

© All Rights Reserved.

Follow us on