Election 2024 : नीतीश कुमार की बिहार सरकार भाजपा के खिलाफ! चौंकिए मत, पढ़िए… तथ्य- 1

ऋषिराज सिंह, पटना

by Republican Desk

Election 2024 के सिलसिले में दूसरी बार प्रधानमंत्री का पटना दौरा चल रहा है। अगर आप सोमवार की शाम पटना में शाम चार बजे से रात आठ बजे किसी बेहद जरूरी काम से भी निकले होंगे, तो जेहन में यह बात आई होगी कि नीतीश कुमार की बिहार सरकार भाजपा के खिलाफ है।

CM Nitish Kumar with PM Narendra Modi
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और मुख्यमंत्री नीतीश कुमार (फाइल फोटो)

Lok Sabha Election 2024 : हमारी बातों पर नहीं, तथ्यों को देखें

बिहार में एक खबर (Bihar News) को दबाने की भरसक कोशिश हुई, लेकिन RepublicanNews.in समेत एक-दो चुनिंदा संस्थानों ने ही वह खबर कल सामने लायी। ऐसा नहीं कि वह किसी दस्तावेजी फाइल की खबर थी, सार्वजनिक रूप से सामने आया था कि बिहार सरकार के मातहत कार्यरत शिक्षक अपने छात्रों के घर तक संदेश भेज रहे थे कि “मोदी की भाजपा को वोट मत दो।” क्या कोई सरकारी सेवक अपनी नौकरी जाने का डर रहते ऐसा कर सकता है? लेकिन, यह हुआ। खैर, अभी बात पटना की। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Narendra Modi) लोकसभा चुनाव (Lok Sabha Election 2024) के दरम्यान दूसरी बार पटना (PM Modi Patna Live) आए हैं। प्रधानमंत्री के स्वागत की तैयारी समझ में आती है, लेकिन क्या इसके नाम पर पटना के बाशिंदों को आठ-आठ आंसू रुलाना भारतीय जनता पार्टी (BJP Party) को फायदा देगा? चुनाव के अंतिम चरण में एक जून को पटना में मतदान है। पिछले दिनों पीएम मोदी (PM Modi) पटना आए तो भी यही हालत थी और इस बार भी।

पटना में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी।

Bihar News : पीएम मोदी के नाम पर पटना में जाम, हर तरफ त्राहिमाम

पटना में सोमवार की शाम ऑफिस से निकलते ही लोगों को जाम मिल गया। पंद्रह मिनट की दूरी दो घंटे में तय करनी पड़ी। जिधर जाइए, उधर जाम। प्रधानमंत्री को जिस रास्ते से नहीं गुजरना था, उन्हें भी बंद कर दिया गया था। अटल पथ से वास्ता नहीं था, वहां भी जाम था। बेली रोड के तो इस तरफ से उस तरफ जाने वालों को भी दो घंटे से ज्यादा इंतजार कराया गया। करबिगहिया स्टेशन की ओर शाम पांच बजे से ही जाम लग गया था, क्योंकि महावीर मंदिर के सामने से ऊपर जाने वाले फ्लाईओवर पर कंकड़बाग जाने का रास्ता बंद कर दिया गया था। सारा लोड करबिगहिया स्टेशन की जर्जर और संकरी सड़क पर था। आयकर गोलंबर से बेली रोड पर बीपीएससी तक करीब चार घंटे बंद रखा गया था। आयकर गोलंबर से राजेंदनगर तक करीब दो घंटे बंद रखा गया था। इसके कारण दूसरे रास्तों पर चार-चार घंटे तक गाड़ियों में लोग परेशान रहे। पीएम का पटना मूवमेंट सात बजे शुरू हुआ, लेकिन रास्ते साढ़े पांच बजे ही बंद कर दिए गए थे। पटेल गोलंबर, शेखपुरा मोड़, फुलवारीशरीफ से एयरपोर्ट के रास्ते जाने वालों को भी जहां-तहां घूमना पड़ा।

पटना में सोमवार को हर तरफ दो से चार घंटे तक गाड़ियां ऐसे ही फंसी रहीं।

Bihar Police : पुलिस के रवैए पर नाराजगी दिखाकर खड़े रहे मजबूर लोग

जाम चाहे बेली रोड से जुड़ी किसी सड़क पर हो या करबिगहिया में, हर जगह लोगों ने पुलिस को अपशब्द कहे। खासकर एक-डेढ़ घंटे पहले से सड़क बंद किए जाने और वैकल्पिक व्यवस्था नहीं करने पर लोग भड़के हुए थे। इस दौरान भी करबिगहिया में अशोक गोलंबर के पास पुलिस जिप्सी में पुलिसकर्मी को सोए हुए और दो ट्रैफिक पुलिसकर्मी को गाड़ियों से वसूली करते देख लोगों का गुस्सा सातवें आसमान पर था। आर ब्लॉक के पास एक बिल्डिंग से साढ़े पांच बजे निकलने के बावजूद साढ़े छह बजे तक करबिगहिया स्टेशन नहीं पहुंच सके राजेश कुमार ने RepublicanNews.in से कहा- “जिनकी गाड़ियों में पेट्रोल कम था, वह बगैर एसी चलाए बिलबिलाते रहे। दूसरी तरफ बाइक वाले टेम्पो और बसों के धुएं के साथ कारों के एसी के कारण बाहर निकल रही गर्मी को झेलने के लिए मजबूर रहे। दिल्ली में भी तो प्रधानमंत्री घूमते हैं, लेकिन यहां तो पुलिस जुल्म ढाने लगती है।” एग्जीबिशन रोड से कंकड़बाग का सफर ढाई घंटे में करने वाले विकास मैजरवार कहते हैं- “पीएम मोदी को एयरपोर्ट से 10 मिनट के लिए पूर्व उप मुख्यमंत्री दिवंगत सुशील कुमार मोदी के घर जाकर वीरचंद पटेल पथ स्थित भाजपा प्रदेश कार्यालय आना था, बस। इतने के लिए यह संकट? ऐसा लगता है कि प्रधानमंत्री की छवि खराब करने के लिए ही यह सब किया गया हो।”

गांधी मैदान के हर तरफ घंटों यही हालत रही।

You may also like

Leave a Comment

cropped-republicannews-logo.png

Editors' Picks

Latest Posts

© All Rights Reserved.

Follow us on