BPSC की पीटी में इसी बार से बदल गया पैटर्न, प्रारंभिक परीक्षा का फॉर्म भरा है तो पढ़ लें इसे

by Republican Desk

Bihar News in Hindi में इस समय राज्य की सिविल सेवा की प्रारंभिक परीक्षा में पैटर्न का बड़ा बदलाव सबसे बड़ी खबर है। BPSC ने 69th PT Exam से ही इस नए पैटर्न को प्रभावी कर दिया है।

E) इनमें से कोई नहीं। E) इनमें से सभी लागू हैं। E) इनमें से दो लागू हैं। E) इनमें से पहले दो ज्यादा प्रभावी हैं… ऐसे जवाबों के विकल्प से बिहार लोक सेवा आयोग (BPSC) ने आखिरकार तौबा कर ली है। यानी, अब बिहार लोक सेवा आयोग की सिविल सेवा परीक्षा (CSE) की प्रारंभिक परीक्षा (PT) के उत्तरों में E Option खत्म हो गया है। 30 सितंबर को संभावित 69वीं पीटी से ही इसे लागू कर दिया गया है। इस बार से आयोग ने सिविल सेवा के साथ समान प्रकृति की अन्य परीक्षाओं को भी साथ लेने की घोषणा की है। इसलिए, ई ऑप्शन की समाप्ति का फायदा बाकी परीक्षा के अभ्यर्थियों को भी मिलेगा। आयोग के अध्यक्ष ने रविवार को इसकी औपचारिक घोषणा की। बीपीएससी की पीटी परीक्षा से ई ऑप्शन हटाने की मांग वर्षों से चली आ रही थी। इसके लिए कई बार अभ्यर्थियों ने आंदोलन भी किया था। उत्तर के विकल्पों में संशय वाला विकल्प मानते हुए ई विकल्प का विरोध चल रहा था। आयोग अध्यक्ष ने इसके साथ ही निगेटिव मार्किंग 1/3 के प्रावधान की भी जानकारी दी।
कब है परीक्षा, कौन-कौन परीक्षाएं होंगी साथ
आयोग की 69वीं संयुक्त प्रतियोगिता परीक्षा की पीटी की परीक्षा 30 सितंबर को प्रस्तावित है। इसके बाद कैंलेंडर के अनुसार मुख्य परीक्षा का आयोजन 17 नवंबर को किया जाएगा। यह दोनों समय पर रहा तो बीपीएससी कैलेंडर के अनुसार इंटरव्यू 9 दिसंबर से 16 दिसंबर के बीच कर लिया जाएगा। 69वीं पीटी एक अहम कारण से खास है। यह राज्य के अंदर पहली ऐसी परीक्षा है, जिसमें समान प्रकृति की कई परीक्षाओं की पीटी एक साथ ली जाएगी। सिविल सेवा के साथ ही, वित्तीय प्रशासनिक पदाधिकारी, बाल विकास परियोजना पदाधिकारी और पुलिस उपाधीक्षक (तकनीकी) के पदों के लिए भी 30 सितंबर को ही पीटी परीक्षा होगी। परीक्षाएं साथ होंगी, लेकिन प्रारूप अलग होगा, क्योंकि सभी अलग-अलग तरह के पद हैं।बिहार लोक सेवा
पद के हिसाब से परीक्षा का पैटर्न होगा, देखें
आयोग ने विज्ञापन में दो सारणी के तहत पदों का विवरण दिया था। पहली सारणी में 235 पद हैं, जिनमें महिलाओं के लिए आरक्षित रिक्तियों की संख्या 73 रखी गई है। इसकी दूसरी सारणी में बाल विकास परियोजना पदाधिकारी (CDPO), वित्तीय प्रशासनिक पदाधिकारी व समकक्ष और पुलिस उपाधीक्षक (तकनीकी) के कुल 111 पद हैं। इनमें से 29 पद महिलाओं के लिए आरक्षित हैं। कुल मिलाकर 346 पदों पर भर्ती होगी।

You may also like

Leave a Comment

cropped-republicannews-logo.png

Editors' Picks

Latest Posts

© All Rights Reserved.

Follow us on