Bihar News : Floor Test से पहले विपक्ष को बड़ा झटका, दो बाहुबलियों ने दिखाई आंखें? टूट की खबरों से पार्टी बेचैन

Bihar News में खबर Bihar Floor Test से जुड़ी हुई। तमाम दावों के बीच विपक्ष में बैठी सबसे बड़ी पार्टी को सबसे बड़ा झटका लगा है। आधा दर्जन से ज्यादा विधायकों के लापता होने की चर्चा ने पार्टी को बेचैन कर दिया है।

बाहुबलियों के झटके से हैरान आरजेडी कुनबा?

बिहार में दो दिनों बाद फ्लोर टेस्ट है। नीतीश सरकार को बहुमत साबित करना है। सदन के पटल पर बहुमत साबित करने से पहले बिहार की राजनीति में हर रोज नया बवंडर देखने को मिल रहा है। अभी जो खबर सामने आ रही है, वह खबर सबसे बड़ा सियासी भूचाल है। क्योंकि इस सियासी भूचाल में विपक्ष में बैठी आरजेडी को सबसे बड़ा झटका लग सकता है। चर्चाएं अगर सही है तो निश्चित तौर पर राजद के लिए यह किसी सुनामी से काम नहीं है। क्योंकि चर्चा है कि राजद के करीब आधा दर्जन से ज्यादा विधायक लापता हो गए हैं। विधायक कहां है और किसके साथ हैं, इसकी जानकारी नहीं मिल पा रही है। अहम मसला ये है कि दो बाहुबलियों ने राजद को बड़ा झटका दे दिया है।

दो बाहुबलियों के झटका देने की कहानी समझिए

वैसे तो हमारे पास राजद के उन दोनों विधायकों का नाम मौजूद हैं जिनके लिए यह चर्चा है कि उन्होंने पार्टी को झटका दे दिया है। लेकिन हम यहां उन विधायकों का नाम समझने के की जिम्मेदारी पाठकों पर छोड़ रहे हैं। हम उन दोनों विधायकों से जुड़े कई तथ्य पाठकों के सामने रख रहे हैं, जिसके जरिए पाठक यह आसानी से समझ पाएंगे कि आखिर वे दोनों विधायक कौन हैं जिन्होंने लालू परिवार की बेचैनी बढ़ा दी है।

कभी सुशासन को दी थी गाली, आज नीतीश की धुन पर बजा रहे ताली, मैडम दिल्ली में क्यों हैं?

बिहार में जब जेडीयू ने आरजेडी का दामन छोड़ एनडीए के साथ मिलकर सरकार बनाने का ऐलान किया तो आरजेडी के एक विधायक के आवास पर जमकर आतिशबाजी हुई। इस आतिशबाजी से कई सवाल खड़े हुए। सवाल यह कि आखिर अपनी ही पार्टी की सरकार गिरने पर विधायक आवास में आतिशबाजी क्यों चल रही है? जवाब भी सामने आया। जवाब यह कि विधायक के पति जो बाहुबली कहे जाते हैं, उनका अंदरुनी झगड़ा सत्ताधारी दल के एक पार्टी के पूर्व राष्ट्रीय अध्यक्ष और वर्तमान में बिहार के एक संसदीय सीट से लोकसभा सदस्य के साथ चल रहा है।

Watch Video

उस पूर्व राष्ट्रीय अध्यक्ष एवं सांसद ने बाहुबली विधायक के एक करीबी एमएलसी को भी अपने कब्जे में ले लिया। बाहुबली को यह बात खटक गई। कहानी का एक अहम हिस्सा यह भी है कि विधायक के पति जो बाहुबली कहे जाते हैं फिलहाल सलाखों के पीछे हैं। एक समय उनके ऊपर हुई कार्रवाई के लिए उन्होंने खुले तौर पर मीडिया के सामने सुशासन को गालियां दी थी। अब वही उन्हीं बाहुबली के समर्थक नीतीश के राजद से अलग होने पर आतिशबाजी कर रहे हैं। कहा यह भी जा रहा है कि जेल में बंद बाहुबली का झगड़ा जिस पूर्व राष्ट्रीय अध्यक्ष एवं सांसद से चल रहा है, वह खुद इस लोकसभा सीट से चुनाव लड़ना चाहते हैं। यानी उनकी पत्नी जो फिलहाल पटना के ही एक विधानसभा क्षेत्र से विधायक हैं, अब लोकसभा चुनाव लड़ने की तैयारी कर रहीं हैं। ऐसे में फ्लोर टेस्ट से पहले उनका आरजेडी को झटका देने की बात सामने आना कोई हैरत की बात नहीं है। हालांकि हमने इस मामले में बाहुबली की विधायक पत्नी से भी बात करने की कोशिश की। लेकिन फोन उठाने वाले शख्स ने बताया कि मैडम दिल्ली में हैं। फ्लोर टेस्ट से पहले मैडम दिल्ली में क्यों हैं, अब यह समझना पाठकों का काम है।

बाहुबली को लाल कोठी जाने का डर, विधायक बेटे ने पार्टी को दिया झटका

आरजेडी को झटका देने वाले दूसरे बाहुबली को आप आसानी से पहचान सकते हैं। बिहार के पुराने कद्दावर नेता और पुराने बाहुबलियों में से हैं ये। सीएम नीतीश से नजदीकियां बढ़ी तो लंबे अरसे बाद लाल कोठी से बाहर निकलना संभव हो पाया। इस बाहुबली के बेटे राजद के विधायक हैं। हाल ही में सुप्रीम कोर्ट में इस बाहुबली के बाहर आने पर सवाल उठे। याचिकाकर्ता की शिकायत पर सुप्रीम कोर्ट ने तल्ख़ियां दिखाई और केंद्र सरकार से जवाब तलब किया। अब जवाब केंद्र सरकार को देना है। केंद्र सरकार ने अगर फाइल ठीक-ठाक बना दी तो ज्यादा उम्मीद इस बात की है कि ये महाशय दोबारा लाल कोठी जा सकते हैं। ऐसे में कयास यह लगाया जा रहा है कि इस बाहुबली के विधायक बेटे ने अपने पिता के भविष्य को देखते हुए राजद को झटका दिया है।

Watch Video

क्या विधायकी जाने का नहीं है डर?

विपक्ष को झटका देने वाले विधायकों की चर्चा के बीच एक सवाल उठ रहा है कि अगर फ्लोर टेस्ट में आरजेडी के साथ कोई खेल हुआ हुआ तो खेल करने वाले विधायकों का भविष्य क्या होगा? जब भी फ्लोर टेस्ट होना होता है, सभी पार्टियां अपने विधायकों को व्हिप जारी करती हैं। इस व्हिप के जरिए पार्टियां अपने विधायकों को हर हाल में विधानसभा में मौजूद रहने के लिए कहती है। अगर कोई विधायक व्हिप का उल्लंघन करता है तो उसके खिलाफ दल बदल कानून के तहत कार्रवाई की जाती है। ऐसी स्थिति में उस विधायक की विधायकी चली जाएगी।

You may also like

Leave a Comment

cropped-republicannews-logo.png

Editors' Picks

Latest Posts

© All Rights Reserved.

Follow us on