Election 2024 : बिहार की 40 लोकसभा सीटों पर चुनाव कब-कब होंगे? क्या बता रहा पिछला रिकॉर्ड

रिपब्लिन न्यूज़, पटना

by Republican Desk

Election 2024 के लिए कुछ घंटे बाद भारत निर्वाचन आयोग की ओर से संवाददाता सम्मेलन होगा। इससे पहले यह देखें कि बिहार में लोकसभा चुनाव पिछली बार किस तरह कराया गया था।

बिहार में पिछली बार किन सीटों पर कब हुआ था चुनाव, यह बता रहा ग्राफिक्स। क्रेडिट- Election Commission of India

Bihar News में अब चुनाव आयोग की चर्चा सबसे आगे

लोकसभा चुनाव (Lok Sabha) में उतरने के लिए अपने नामों की घोषणा का इंतजार कर रहे नेताओं के साथ कार्यकर्ताओं की भी धड़कनें बढ़ी हुई हैं और प्रशासनिक तैयारी करने वालों का भी ध्यान अब अगले कुछ घंटे भारत निर्वाचन आयोग (Election Commission of India) की ओर से होने जा रही घोषणा पर रहेगा। दोपहर बाद तीन बजे चुनाव आयोग लोकसभा चुनाव 2024 (Election 2024) के लिए तारीखों का एलान करने वाला है। पिछली बार 10 मार्च को चुनावों का एलान हुआ था। इस बार मुख्य निर्वाचन आयुक्त राजीव कुमार ने 16 मार्च की तारीख रखी। आज यह घोषणा होने से पहले पिछले चुनाव को याद करना अपनी जानकारी के लिए भी जरूरी है। पिछले चुनाव में बिहार की 40 लोकसभा सीटों में से किशनगंज को छोड़ सभी 39 सीटें एनडीए ने जीती थीं।

सात चरणों में इस बार भी तो नहीं होगा चुनाव

बिहार में लोकसभा चुनाव 2019 के तहत सात चरणों में मतदान हुआ था। पहले फेज़ की वोटिंग 11 अप्रैल और अंतिम फेज़ का मतदान 19 मई को कराया गया था। लोकसभा सीटों के हिसाब से यह पश्चिम बंगाल के करीब और उत्तर प्रदेश का आधा है। इन दोनों राज्यों में भी निर्वाचन आयोग ने सात फेज़ में चुनाव कराए थे और बिहार में भी। संभव है कि इस बार भी उन राज्यों में जितने फेज़ में वोटिंग हो, बिहार में भी हो। एक फेज़ में न्यूनतम चार सीटों पर एक साथ चुनाव हुआ, जबकि अधिकतम आठ सीटों पर एक तारीख को मतदान हुआ था।

लोकसभा चुनाव 2019 का सारा रिकॉर्ड यहां देखें

लोकसभा चुनाव 2019 में 11 अप्रैल को पहले फेज़ में चार सीटों- औरंगाबाद (37), गया- सुरक्षित (38), नवादा (39) और जमुई- सुरक्षित (40) पर मतदान हुआ। दूसरे फेेज़ में 18 अप्रैल को पांच सीटों- किशनगंज (10), कटिहार (11), पूर्णिया (12), भागलपुर (26) और बांका (27) लोकसभा में वोटिंग हुई। इसके बाद तीसरे फेज़ में 23 अप्रैल को पांच सीटों- झंझारपुर (7), सुपौल (8), अररिया (9), मधेपुरा (13) और खगड़िया (25) में मतदान हुआ। चौथे फेज़ के लिए वोटिंग 29 अप्रैल को हुई। इस बार भी पांच सीटों- दरभंगा (14), उजियारपुर (22), समस्तीपुर- सुरक्षित (23), बेगूसराय (24) और मुंगेर (28) में वोट पड़े। अब आया मई।

मई में पांचवें फेज़ की वोटिंग छह मई को हुई। सीटें इस बार भी पांच थीं- सीतामढ़ी (5), मधुबनी (6), मुजफ्फरपुर (15), सारण (20) और हाजीपुर (21)- सुरक्षित। छठे फेज़ की वोटिंग 12 मई को आठ- वाल्मीकिनगर (1), पूर्वी चंपारण (2), पूर्वी चंपारण (3), शिवहर (4), वैशाली (16), गोपालगंज- सुरक्षित (17), सीवान (18) और महाराजगंज (19) लोकसभा क्षेत्रों में हुई। सातवें, यानी अंतिम फेज़ में फिर आठ सीटों- नालंदा (29), पटना साहिब (30) व पाटलिपुत्रा (31), आरा (32), बक्सर (33), सासाराम- सुरक्षित (34), काराकाट (35) और जहानाबाद (36) में वोट पड़े। सुरक्षित का मतलब, आरक्षित वर्गों के लिए चिह्नित है।

You may also like

Leave a Comment

cropped-republicannews-logo.png

Editors' Picks

Latest Posts

© All Rights Reserved.

Follow us on