Nitish Kumar अपनी ही चाल को तिलस्मी कैसे बना देते हैं, देखिए; फिर कहेंगे- यह अफवाह है

by Republican Desk

Deen Dayal Upadhyay की जयंती पर मुख्यमंत्री नीतीश कुमार का पहुंचना। इससे पहले अटलजी की पुण्यतिथि पर जाना। इस बीच इंडी गठबंधन के G20 बायकॉट के बीच नीतीश का जाना, पीएम से मिलना। क्या है ये?

भाजपा के प्रेरणास्रोत पंडित दीन दयाल उपाध्याय की जयंती पर राजकीय कार्यक्रम में नीतीश।

बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार किस तरफ हैं, इसपर हर समय सवाल उठता है। वह इसके लिए मीडिया पर दोष मढ़ते हैं कि केंद्र सरकार के लिए काम करते हुए यह अफवाह उड़ाई जा रही है। वह मीडिया पर मोदी सरकार के नियंत्रण की बात करते रहते हैं। लेकिन, अगर मुख्यमंत्री नीतीश कुमार की चाल को देखें तो वह हर समय तिलस्मी या चौंकाने वाला लगता है। वह राजद के साथ जनमत लेकर भाजपा और भाजपा के साथ जनादेश लेकर राजद के मुख्यमंत्री बन चुके हैं। लेकिन, उस बात को भी दरकिनार कर दिया जाए तो नीतीश का ट्रैक हमेशा अफवाह को जन्म देता है। सोमवार को सुबह मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने पंडित दीनदयाल उपाध्याय की जयंती पर पटना के राजेन्द्र नगर में आयोजित राजकीय समारोह में पहुंचकर श्रद्धांजलि दी। भाजपा के प्रेरणास्रोत थे पंडित दीन दयाल उपाध्याय। राजकीय कार्यक्रम में उन्हें प्रसिद्ध विचारक एवं स्वतंत्रता सेनानी लिखा गया था। भाजपा वाले इस कार्यक्रम में मुख्यमंत्री के रहते नहीं आए, वरना और तेज अफवाह उड़ती। अफवाहों की बात करें तो मुख्यमंत्री का अटलजी की पुण्यतिथि पर दिल्ली जाना, कांग्रेस समेत इंडी एलायंस के जी20 बॉयकॉट के बावजूद वहां जाना और अब यह! वैसे भी नीतीश बार-बार अटलजी की चर्चा तो करते ही रहते हैं। ऐसे में बातें निकलना लाजिमी है। खैर, आगे पढ़ें कि उन्होंने कहा क्या?
आप आए, भाजपाई नहीं… इसपर क्या कहा
कार्यक्रम के बाद मुख्यमंत्री ने पत्रकारों ने पूछा कि आप पंडित दीनदयाल उपाध्याय की जंयती पर राजकीय कार्यक्रम में आए हैं, जबकि भाजपा वाले नहीं आए? इस प्रश्न पर मुख्यमंत्री ने कहा- “जो पहले साथ थे, लेकिन आज इस कार्यक्रम में नहीं आए तो वे जानें। पंडित दीनदयाल उपाध्याय की जयंती को लेकर जो चीज पहले से सरकार की ओर से तय है, उसमें सबलोग आते हैं। हम तो सबकी इज्जत करते हैं, सबका सम्मान करते हैं। हम सबलोगों के लिए काम कर रहे हैं। आगे भी हमलोग विकास का काम यूं ही करते रहेंगे। हम बार-बार कहते हैं कि हम पत्रकारों के पक्षधर हैं।”
किन बातों को फालतू कहा, किससे किनारा
एनडीए की तरफ झुकाव को लेकर सवाल पर मुख्यमंत्री ने कहा कि इस तरह की फालतू बातें क्यों करते हैं! हम तो विपक्षी पार्टियों को एकजुट करने में लगे हुए हैं। जदयू नेता महेश्वर हजारी ने आपको पीएम मैटेरियल बताया है, इस सवाल पर मुख्यमंत्री ने कहा कि मुझे किसी पद की लालसा नहीं है। मैं सभी विपक्षी पार्टियों को एकजुट करने में लगा हुआ हूं। इंडी एलायंस की अगली बैठक कब होगी और आगे की रणनीति क्या होगी? इस सवाल के जवाब में मुख्यमंत्री ने कहा कि कमिटियां बन गई हैं, मीटिंग हो रही है। हम इस काम में उनलोगों को सुझाव दे रहे हैं, सभी लोग लगे हुए हैं। आगे सबकुछ तय कर लिया जाएगा।
तेजस्वी के कारण आज बुलाई कैबिनेट बैठक
मुख्यमंत्री ने बताया कि कैबिनेट की बैठक कल होनी थी, लेकिन उपमुख्यमंत्री तेजस्वी प्रसाद यादव की अनुपस्थिति को देखते हुए सोमवार को ही कैबिनेट की बैठक बुलाई गई है। आज वह रहेंगे तो ठीक रहेगा। इसके अलावा मुकर्रर दिन से पहले कैबिनेट बुलाने के पीछे और कोई उद्देश्य नहीं है। जयंती पर उप मुख्यमंत्री तेजस्वी यादव की उपस्थिति भी चर्चा का विषय रही। इसपर पत्रकारों ने पूछा कि आपने सदन में जिनकी जयंती मनाए जाने का विरोध किया था, उसमें ही आए हैं तो उन्होंने कहा कि हम सभी का सम्मान करते हैं, विरोध नहीं किया था। इस मौके पर वित्त, वाणिज्य कर एवं संसदीय कार्य मंत्री विजय कुमार चौधरी भी मौजूद थे। सूचना एवं जन-सम्पर्क विभाग के कलाकारों ने जयंती समारोह में आरती पूजन, भजन-कीर्तन एवं बिहार गीत का गायन किया गया।

You may also like

Leave a Comment

cropped-republicannews-logo.png

Editors' Picks

Latest Posts

© All Rights Reserved.

Follow us on