Bihar Police के 100 दारोगा अब इंस्पेक्टर की पावर-वर्दी में, इस खबर में मिलेगी इनकी पूरी सूची

by Republican Desk

Bihar Police Inspector की पुलिस मुख्यालय ने दूसरी सूची जारी की है। अवर पुलिस निरीक्षक से इन्हें पुलिस निरीक्षक की पावर-वर्दी दी जा रही है।

Bihar DGP R S Bhatti. IPS RS Bhatti.
पुलिस महानिदेशक आर एस भट्‌टी (फाइल फोटो)।

मुख्यमंत्री नीतीश कुमार (Nitish Kumar) के गृह विभाग की आरक्षी शाखा ने एक बार फिर अपने 100 अधिकारियों की लॉटरी निकाली है। बिहार पुलिस मुख्यालय ने पुलिस निरीक्षकों (Police Inspector) के खाली पदों को भरने के लिए वरीयता और योग्यता के आधार पर 100 अवर पुलिस निरीक्षकों (Assistant Sub Inspector- ASI) को उच्चतर कार्यकारी प्रभार दिया है। अवर पुलिस निरीक्षक, यानी दारोगा अब इंस्पेक्टर के रूप में काम करेंगे। इन्हें इस हिसाब से वर्दी भी मिलेगी और तमाम शक्तियां भी। पुलिस मुख्यालय ने इस आदेश में भी एक बार फिर स्पष्ट किया है कि कार्यकारी प्रभार हासिल करने वाले तमाम पदाधिकारी अपने ही वेतनमान में सभी दायित्वों का निर्वहन करेंगे। इस सूची से पहले बिहार पुलिस के 1816 असिस्टेंट सब इंस्पेक्टर को सब इंस्पेक्टर बनाने की सूची जारी की गई थी।

100 नए-नए इंस्पेक्टर की सूची यहां देखें

इससे पहले 1168 की सूची निकाली गई थी
पुलिस अवर निरीक्षकों में से योग्यता और वरीयता के आधार पर 15 सितंबर को बिहार पुलिस मुख्यालय ने 1168 पदाधिकारियों को पुलिस निरीक्षक के रूप में पोस्टिंग दी थी। यह सूची जारी किए जाने के चार दिन के बाद पुलिस मुख्यालय ने एक और सूची जारी की थी, जिसमें बताया गया था कि रिकॉर्ड की समीक्षा के दौरान जो उच्चतर पद का कार्यभार पाने में सक्षम नहीं पाए गए, उन्हें सीधे तौर पर अयोग्य की श्रेणी में रखा गया है। बिहार में ऐसे दारोगों की कुल संख्या 172 बताई गई है। इनकी सूची जारी की गई। एक तरह से पुलिस मुख्यालय ने एक काली सूची जारी की, जिसमें कुल 452 अवर निरीक्षकों का नाम है। इनमें 172 तो अयोग्य ही घोषित हैं, शेष को लेकर निर्णय कुछ-कुछ कारणों से लंबित रखा गया। अब ताजा जारी 100 निरीक्षकों की सूची में से देखना होगा कि लंबित रखे गए 280 अवर पुलिस निरीक्षकों में से किसी को राहत मिली या नहीं।

25 सितंबर तक ही इनका रिकॉर्ड जमा होना था
पुलिस मुख्यालय ने 280 दारोगों को काली सूची में लंबित बताते हुए सूची जारी करते समय ही बता दिया था कि इनकी रिपोर्ट 25 सितंबर तक पहुंच जाए। संबंधित वरीय अधिकारियों को लिखा गया था कि वह अपने क्षेत्र अंतर्गत लंबित श्रेणी में रखे गए दारोगों की समीक्षा कर लंबित के कारणों का निराकरण करते हुए सेवा विवरणी अपडेट कर 25 सितंबर 2023 तक बिहार पुलिस मुख्यालय को उपलब्ध कराएं। सेवा विवरणी के संबंध में यह भी बताया गया था कि पुलिस मुख्यालय की ओर से 2 अगस्त को जारी प्रपत्र में ही इसे बनाया जाए और पुलिस मुख्यालय स्थित महानिदेशक नियंत्रण कक्ष में ही उपलब्ध कराया जाए। जिन पुलिस अवर निरीक्षकों की सेवा विवरणी पहले किसी कारण से मुख्यालय को उपलब्ध नहीं हुई, उनके मामलों में भी 25 सितंबर ही अंतिम तारीख दी गई थी।

पहले इंस्पेक्टर बने 1168 पुलिस पदाधिकारियों की सूची

You may also like

Leave a Comment

cropped-republicannews-logo.png

Editors' Picks

Latest Posts

© All Rights Reserved.

Follow us on