Bihar Police में चोर आए थे सिपाही बनने, सही उत्तर लेकर आए थे सिपाही भर्ती की परीक्षा देने

by Republican Desk

Bihar Police Constable Exam का रद्द होना ही अब बाकी है। अबतक रद्द नहीं करना केंद्रीय सिपाही चयन पर्षद की मनमानी है, क्योंकि यहां तो सही उत्तर के साथ परीक्षा हॉल में सिपाही बनने आए चोर पकड़े गए हैं।

सिपाही चयन पर्षद से सवाल पूछिए, क्योंकि गिरफ्तार करने वाली टीम ने तो आंसर-की और प्रश्नों का मिलान किया था।

कोई अजूबा नहीं है कि रविवार को पटना के परीक्षा हॉल में आंसर-की के साथ परीक्षार्थी घुसे। यह भी कोई अजूबा नहीं कि सिपाही बनने आए यह चोर पूरी तैयारी के साथ थे। यह भी कोई अजूबा नहीं कि पकड़े गए छह नकलची-चोरों में से पांच के पास मिले आंसर-की और सिपाही भर्ती परीक्षा में पूछे गए प्रश्नों का मिलान हो गया। अजूबा यह है कि केंद्रीय सिपाही चयन पर्षद (CBSC Bihar) ने बिहार पुलिस के लिए रविवार को हुई सिपाही भर्ती की परीक्षा को सोमवार सुबह तक रद्द नहीं किया है। केंद्रीय सिपाही चयन पर्षद के अध्यक्ष डॉ. एस. के. सिंघल हैं। बिहार के वही रिटायर्ड पुलिस महानिदेशक, जो सेवानिवृत होने के पहले पटना उच्च न्यायालय के फर्जी जज की पैरवी सुनकर फैसले लेने के लिए चर्चित रहे थे। इसके बावजूद बिहार की नीतीश कुमार सरकार ने उन्हें यह पद दिया था। हमेशा की तरह वह इसपर बात करने न मीडिया के सामने आए और न ही परीक्षा के 18 घंटे बाद तक कोई औपचारिक घोषणा ही की है।
आंसर-की का हॉल में होना, मैच करना ही प्रमाण
शत-प्रतिशत प्रश्नों के उत्तर लेकर कोई नहीं पकड़ गया है, क्योंकि बीच-बीच में ऐसे भी प्रश्नों के उत्तर रखे गए थे जो पूछे नहीं गए। पटना में छह नकलची इस परीक्षा के दौरान एक ही इलाके में गिरफ्तार हुए और इनमें में पांच के पास बरामद आंसर-की के साथ सिपाही भर्ती परीक्षा का प्रश्नपत्र काफी हद तक मैच कर रहा था। परीक्षा हॉल में आंसर-की के साथ परीक्षार्थियों का पहुंचना, इस तरह उस आंसर-की के साथ प्रश्नों का मैच करना ही एक तरह से प्रमाण है कि प्रश्नपत्र पहले ही बाहर आ गया था।
21391 पदों के लिए 529 केंद्रों पर 5.95 लाख परीक्षार्थी
बिहार पुलिस में अर्से इंतजार के बाद 21391 पदों पर वैकेंसी निकली थी। इस वैकेंसी के लिए बार-बार घोषणा हुई और मुख्यमंत्री ने जब सख्त ताकीद की, तब परीक्षा की प्रक्रिया शुरू हुई। सिपाही परीक्षा में पहले दिन रविवार को आधा दर्जन जिलों में 100 से अधिक अभ्यर्थियों को गिरफ्तार किया गया। कदाचार करने वालों के साथ कराने वालों और यहां तक केंद्राधीक्षक तक को गिरफ्तार किया गया। कदाचार के लिए आए 70 से अधिक सॉल्वर भी गिरफ्तार किए गए। दो पाली में यह परीक्षा हुई। पटना के कंकड़बाग में रामकृष्ण द्वारका कॉलेज केंद्र के अधीक्षक की ओर से दर्ज कराई प्राथमिकी के साथ प्रश्नपत्र, छह परीक्षार्थियों रवि रंजन कुमार, रजनीश कुमार, अरविंद कुमार, मनु कुमार, रौशन कुमार एवं विमल कुमार की ओएमआर शीट और इनके पास मिले आंसर-की भी पुलिस को उपलब्ध करा दिया गया है।

You may also like

0 comment

Thakur Ka Kuan पर लालू की पार्टी कायम, तो अब Anand Mohan की मजबूरी आप भी समझिए October 2, 2023 - 8:32 am

[…] (यह भी पढ़ें- आंसर-की के साथ सिपाही भर्ती परीक्षा दे…) […]

Reply

Leave a Comment

cropped-republicannews-logo.png

Editors' Picks

Latest Posts

© All Rights Reserved.

Follow us on