Bihar Board : बिहार बोर्ड इंटर रिजल्ट के टॉपर्स पर बड़ा खुलासा! जानें, कैसे सवालों का जवाब देकर चुने गए इंटर में टॉप 10

RepublicanNews.in EXCLUSIVE

by Republican Desk

Bihar Board इंटर रिजल्ट में टॉपर्स की कहानियां बहुत प्रेरक होती हैं। कभी टॉपर्स के कारण थू-थू होती थी, लेकिन अब टॉपर्स छानकर निकाले जाते हैं। Inter Toppers कौन-कैसे चुने गए, रिपब्लिकन न्यूज़ ने सामने ला रहा है।

बिहार बोर्ड ने 20 और 21 मार्च को टॉपर्स के वेरीफिकेशन की प्रक्रिया पूरी की।

Bihar Board Inter Toppers में टॉप 10 कैसे चुने गए, जानें यहां

बिहार विद्यालय परीक्षा समिति (Bihar Board) शनिवार, यानी आज दोपहर इंटर रिजल्ट (12th result) जारी कर रहा है। बिहार बोर्ड का रिजल्ट (board result) दोपहर बाद डेढ़ बजे जारी होगा। इंटर परीक्षार्थियों में से टॉपर्स (Board Toppers) को चुनने के लिए 20 और 21 मार्च को वेरीफिकेशन हुआ था। रिपब्लिकन न्यूज़ की टीम ने दोनों दिन में करीब 300 छात्र-छात्राओं को देखा। इनमें से ही टॉपर्स  (Inter Topper) को चुना गया है, जिसकी औपचारिक घोषणा शनिवार दोपहर बाद बिहार बोर्ड के अध्यक्ष आनंद किशोर (Anand Kishore) कर रहे हैं। बिहार में शनिवार को 12वीं के जिन टॉपर्स की चर्चा (Bihar News) रहेगी, उनमें से कई का नंबर एक समान है। वेरीफिकेशन प्रक्रिया से उस नंबर पर असर नहीं पड़ा है।

Inter Toppers को चुनने के लिए पांच परीक्षकों का पैनल

इंटर परीक्षा में कला (Inter Arts Topper), विज्ञान  (Inter Science Topper) और वाणिज्य  (Inter Commers Topper) के टॉपर्स की शनिवार को जारी हो रही सूची में लड़कियों की संख्या ज्यादा है। तीनों संकाय के टॉप 10 में ज्यादातर लड़कियां हैं। बुधवार और गुरुवार को पांच-पांच परीक्षकों के पैनल ने इनकी विद्वता की जांच की और फिर बिहार दिवस (Bihar Diwas) के अवकाश के बावजूद बोर्ड ने रिजल्ट को अंतिम तौर पर घोषणा के लिए तैयार किया। रिपब्लिकन न्यूज़ की टीम ने देखा कि टॉपर्स वेरीफिकेशन के लिए राज्य के करीब 27-28 जिलों से उन इंटर परीक्षार्थियों को बुलाया गया था, जो प्राप्तांक के मामले में सर्वाधिक रहे हों।
Bihar Board Toppers से पूछे गए सवाल देखें

उत्तर पर पकड़, लेखन का मिलान कर टॉपर्स चुने गए

इन सभी परीक्षार्थियों को संकाय के हिसाब से एक्सपर्ट पैनल के सामने भेजा गया। वहां पांच में से एक-एक शिक्षक ने चार-पांच सवाल पूछे। टॉपर्स को चुनने के लिए करीब 300 इंटर परीक्षार्थियों को बिहार बोर्ड के लिए बुलावा आया था। ज्यादातर को सोमवार 18 मार्च को उनके नंबर पर कॉल आया था। एक्सपर्ट पैन ने परीक्षार्थियों से वेरीफिकेशन के दौरान वस्तुनिष्ठ प्रश्न (Objective Question) नहीं, बल्कि विषयनिष्ठ उत्तर (Subjective Answer) पूछे। टॉपर्स सूची में शामिल परीक्षार्थियों ने रिपब्लिकन न्यूज़ को बताया कि पैनल के पास संबंधित परीक्षार्थी की इंटर वाली उत्तरपुस्तिकाएं थीं।

देखा गया कि, जिस प्रश्न का उत्तर परीक्षार्थी ने लिखा है, उसके संबंध में उसे जानकारी कैसी है? गणित में उसी फॉर्मूले पर दूसरे प्रश्न भी बनवाकर देखा गया। जो जिस मीडियम का हो, लेकिन इस जांच में यह देखा गया कि वह कहीं अटक तो नहीं रहा है। टॉपर्स वेरीफिकेशन के क्रम में लिखवाकर हैंडराइटिंग की जांच भी की गई। इस जांच के दौरान यह भी प्रयास किया गया कि परीक्षार्थी किसी मानसिक दबाव में नहीं रहें। परीक्षार्थियों ने बताया कि जो थोड़ा भी नर्वस नजर आया, बोर्ड सदस्यों ने उसे नॉर्मल करने में मदद की।

बिहार में पुल गिरा, पीएम मोदी का या सीएम नीतीश का?

You may also like

Leave a Comment

cropped-republicannews-logo.png

Editors' Picks

Latest Posts

© All Rights Reserved.

Follow us on