Narendra Modi देंगे बिहार और बंगाल को यह सौगात, 24 से शुरू हो रही पटना-हावड़ा वंदे भारत

by Republican Desk

Bihar News में बाकी चीजों से अलग एक अच्छी और राहत भरी खबर दिल्ली से आयी है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने पटना-हावड़ा वंदे भारत को खुद हरी झंडी दिखाने का एलान किया है।

पटना-रांची के बाद अब पटना-हावड़ा वंदे भारत दौड़ेगी इसी 26 सितंबर से।

यात्रियों की सुविधा के मद्देनजर पटना और हावड़ा के मध्य अत्याधुनिक एवं विश्वस्तरीय सुविधाओं से युक्त सेमी हाई स्पीड वंदे भारत ट्रेन का परिचालन प्रारंभ किया जा रहा है। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी जी 24 सितंबर को वीडियो कांफ्रेसिंग के जरिए पटना-हावड़ा वंदे भारत ट्रेन के परिचालन का शुभारंभ करेंगे। पटना-रांची वंदे भारत पहले से चल रही है। अब पटना-हावड़ा वंदे भारत के जरिए बिहार और पश्चिम बंगाल को त्वरित और बेहतरीन यात्रा का आनंद मिलेगा।

वंदे भारत ट्रेन देश में रेल यात्रा के उच्च स्तर को स्थापित करने और ट्रेनों की गति को बढ़ाने की महत्वाकांक्षी योजना है । प्रधानमंत्री मोदी के ‘मेक इन इंडिया‘ और ‘आत्मनिर्भर भारत‘ की संकल्पना को साकार करने के लिए भारतीय रेलवे ने नवीनतम तकनीक का प्रयोग कर पूर्णतः स्वदेशी सेमी हाई स्पीड वंदे भारत ट्रेन का निर्माण किया है। आकर्षक एरोडाइनमिक डिजायन, बेहतरीन आंतरिक साज-सज्जा, अत्याधुनिक सुविधाएं, आरामदायक यात्रा, सुरक्षा प्रबंधन और संरक्षित सफर के मापदण्डों के साथ वंदे भारत एक लोकप्रिय ट्रेन साबित हुई है ।

वंदे भारत ट्रेन की प्रमुख विशेषताएं –

 160 किलोमीटर प्रति घंटा की अधिकतम स्पीड
 टक्कररोधी कवच प्रणाली से सुसज्जित
 उत्कृष्ट परिचालन क्षमता के तहत वंदे भारत ट्रेन दोनों दिशाओं में संचालित की जा सकती है, इसमें इंजन रिवर्सल की आवश्यकता नहीं होती है ।
 व्हील माउन्टेड डिस्क ब्रेक का उपयोग, जिससे ब्रेक लगाने के उपरांत ट्रेन न्यूनतम दूरी तय कर रूक जाती है ।
 गार्ड और ड्राइवर को बात करने के लिए रिकार्डिंग सुविधा युक्त संचार व्यवस्था।
 यात्रियों की सुविधा हेतु पूरी ट्रेन ऑनबोर्ड वाई-फाई प्रणाली से सुसज्जित ।
 प्रत्येक सीट के नीचे मोबाईल फोन एवं लैपटॉप चार्ज करने हेतु प्वाइंट।
 जीपीएस आधारित पेसेंजर इंफोर्मेशन सिस्टम
 180 डिग्री घुमने वाली आरामदायक सीट
 बेहतर एयर कंडीशनिंग नियंत्रण सिस्टम
 दिव्यांगजनों के अनुकूल शौचालय सहित अन्य सुविधाएं
 ट्रेन से बाहर का दृश्य अच्छे से दिखाई दे इसके लिए बड़े-बड़े ग्लास लगाए गए हैं
 यात्रियों की सुरक्षा के लिए वंदे भारत ट्रेन में स्वचालित तकनीक से बंद व खुलने वाले दरवाजे । ये दरवाजे तब तक नहीं खुलेंगे जब तक ट्रेन पूरी तरह से रुक न जाए ।
 बेहतर सुरक्षा के लिए सीसीटीवी कैमरे, फायर सिस्टम, आपातकालीन खिड़कियां, आपातकाल में यात्रियों को गार्ड व ड्राइवर से बात करने लिए टॉक बैक सिस्टम 

नए वंदे भारत रेक में काफी सुधार भी किये गये हैं जो निम्नानुसार हैं –

 सीट के झुकाव के कोण को 17.31डिग्री से बढ़ाकर 19.37 डिग्री किया गया ।
 कुशन की कठोरता में सुधार (290N से 250N तक कमी – 25% विरूपण)
 एग्जीक्यूटिव चेयर कार में सीट का रंग लाल से बदलकर सुखद नीला किया गया ।
 एग्जीक्यूटिव चेयर कार में सीटों के लिए विस्तारित फुट रेस्ट (670 मिमी से घटाकर 530 मिमी)
 एग्जीक्यूटिव चेयर कार श्रेणी की अंतिम सीटों के लिए मैगजीन बैग्स की व्यवस्था
 सीटों के नीचे मोबाइल चार्जिंग पॉइंट तक बेहतर पहुंच
 शौचालयों में पानी के छींटों से बचने के लिए वॉश बेसिन की गहराई बढ़ायी गयी
 शौचालयों में प्रकाश व्यवस्था को 1.5 वॉट से बढ़ाकर 2.5 वॉट किया गया
 बेहतर पकड़ के लिए शौचालय के हैंडल को अतिरिक्त मोड़ दिया गया
 बेहतर जल प्रवाह नियंत्रण के लिए Aerator Water tap का प्रयोग
 शौचालय पैनलों के लिए मानकीकृत रंग और सभी जगह एक समान रंग
 ड्राइविंग ट्रेलर कोचों में दिव्यांगजन यात्रियों की व्हील चेयर के लिए सुरक्षित स्थान का प्रावधान (जहां दिव्यांगजन सीट का प्रावधान)
 कोचों में पैनलों की बेहतर सुंदरता और मजबूती के लिए बेहतर ऊपरी ट्रिम पैनल
 आपातकालीन स्थिति में आसान पहुंच के लिए बेहतर हैमर बॉक्स कवर
 पैनल पृष्ठभूमि से मेल करता हुआ बॉर्डरलेस आपातकालीन टॉक बैक यूनिट (आपातकालीन स्थिति में ड्राइवर के साथ बातचीत करने के लिए)।
 आपातकालीन स्थिति में बेहतर दृश्यता के लिए डिब्बों में अग्निशामक यंत्रों के लिए कब्जायुक्त पारदर्शी दरवाजा असेंबली
 कोचों के अंदर के साज-सज्जा में सुधार के लिए एफआरपी पैनलों के संशोधित सिंगल पीस निर्माण
 बेहतर एयरकंडीशनिंग के लिए पैनलों पर इन्सुलेशन के साथ बेहतर एयर टाइटनेस
 कम पारदर्शिता के साथ अधिक टिकाउ एवं बेहतर रोलर ब्लाइंड फैब्रिक
 आसान रखरखाव के लिए ट्रेलर कोचों में विद्युत रखरखाव दरवाजे के लिए बेहतर पकड़ वाले दरवाजे
 लगेज रैक लाइट के स्मूथ टच कंट्रोल हेतु रेसिसटिव टच से कैपेसिटिव टच में बदलाव
 समान रूपता एवं बेहतर दृश्यता के लिए ड्राइविंग ट्रेलर कोच में एक समान रंग का ड्राइवर डेस्क
 लोको पायलट के लिए आसान संचालन और पहुंच के लिए ड्राइवर कंट्रोल पैनल में आपातकालीन स्टॉप पुश बटन में परिवर्तन
 कोचों के अंदर बेहतर एयरोसोल आधारित फायर डिटेक्शन एवं अग्निश्मान प्रणाली
 जहां लैंडस्केप और ओएचई ऊंचे स्थान पर हैं उन क्षेत्रों में हाई राइज पेंटोग्राफ

You may also like

Leave a Comment

cropped-republicannews-logo.png

Editors' Picks

Latest Posts

© All Rights Reserved.

Follow us on